अम्बिकापुर । कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर शुक्रवार को जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के द्वारा वृक्षारोपण कर कृष्ण कुंज का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेस करोपोरेशन के अध्यक्ष व लुण्ड्रा विधायक प्रीतम राम ने विशिष्ट अतिथियों की उपस्थिति में फीता काटकर कृष्ण कुंज का उद्घाटन किया। बिशुनपुर में कृष्ण कुंज का निर्माण वन विभाग द्वारा करीब के एक एकड़ क्षेत्र में किया गया है। इसके साथ ही नगर पंचायत लखनर व सीतापुर में भी वृक्षारोपण कर कृष्ण कुंज का शुभारंभ किया गया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि लुण्ड्रा विधायक प्रीतम राम ने जन्माष्टमी की बधाई देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सोच व परिकल्पना को साकार करने कृष्ण कुंज का शुभारंभ किया गया। उन्होंने कहा कि कृष्ण कुंज लोगां को पर्यवारण संरक्षण व अपनी संस्कृति से जुड़े रहने में अहम भूमिका निभाएगा। वर्तमान में शहरी क्षेत्रों में निर्माण कार्यों की अधिकता से पर्यावरण संतुलन बनाये रखना बड़ी चुनौती है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी जोत घट रहे है और जंगलों की स्थिति बिगड़ रही है। ऐसी स्थिति में कृष्ण कुंज का निर्माण लोगां को सांस्कृतिक महत्व के पौधों के प्रति जागरूक करेगा। उन्होंने कहा कि संतुलित व व्यवस्थित रूप से समाज की व्यवस्था बनाएं तो हम सब स्वस्थ रहेंगे व पर्यवारण भी सुरक्षित रहेगा।
छत्तीसगढ़ खाद्य आयोग के अध्यक्ष गुरप्रीत सिंह बाबरा ने कहा कि कृष्ण कुंज स्थापना की सोच मानव के सुख समृद्धि से जुड़ा हुआ है। आदि काल से वृक्ष मानव को सहारा देते आ रहे है और इसकी निरन्तर आवश्यकता होगी। पर्यावरण संतुलन तथा पृथ्वी को बचाए रखने के लिए वृक्षारोपण अति आवश्यक है। श्रम कल्याण मंडल के अध्यक्ष शफी अहमद ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण व परंपरा से जुड़ाव रहने के लिए कृष्ण कुंज की स्थापना की जा रही है। नगर निगम अम्बिकापुर में विगत दो वर्षों से घर-घर पौधा रोपण कार्य जा रहा है। उन्होंने कहा कि नगरीय क्षेत्रों में 20 प्रतिशत हरियाली होनी चाहिए लेकिन अम्बिकापुर में केवल 4 प्रतिशत ही हरियाली है। नगर की हरियाली बढ़ाने के लिए सभी नागरिकों की सहभागिता जरूरी है। छत्तीसगढ़ आदिवासी स्थानीय स्वस्थ्य परंपरा एवं वनौषधि पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री बालकृष्ण पाठक ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य की जनता की भावना व संस्कृति के अनुरूप कृष्ण कुंज स्थापना की शुरुआत की है। कृष्ण कुंज में सांस्कृतिक महत्व के पौधे लगाए जा रहे हैं। पादप बोर्ड की ओर से भी संभाग में वनौषधि पौधे लगाए जा रहे है। बीस सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन के उपाध्यक्ष अजय अग्रवाल ने कहा कि आज के दौर में शहर कांक्रीटीकरण से भर गया है जिसके कारण शहर की हरियाली समाप्त होते जा रही है। मुख्यमंत्री ने कृष्ण कुंज योजना की शुरुआत कर शहरों में हरयाली बढ़ाने का बहुत ही सकारात्मक पहल की है।
कार्यक्रम को जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मधु सिंह, मुख्य वन संरक्षक अनुराग श्रीवास्तव व कलेक्टर कुन्दन कुमार ने भी संबोधित किया।

इस अवसर पर कृष्ण कुंज में सांस्कृतिक व जीवन उपयोगी पौधों का रोपण जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के द्वारा किया गया। विधायक डॉ प्रीतम राम के द्वारा आम का पौधा, श्रम मंडल के अध्यक्ष श्री शफी अहमद के द्वारा अमरूद, खाद्य आयोग के अध्यक्ष गुरप्रीत सिंह बाबरा के द्वारा कदंब, पादप बोर्ड के अध्यक्ष बाल कृष्ण पाठक के द्वारा कदंब, बीस सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष अजय अग्रवाल व जिला पंचायत सीईओ विनय कुमार लंगेह के द्वारा पाम ट्री, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मधु सिंह व मुख्य वन संरक्षक अनुराग श्रीवास्तव के द्वारा बेल, पुलिस महानिरीक्षक अजय यादव व कलेक्टर कुन्दन कुमार के द्वारा सीताफल व पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता के द्वारा इमली के पौधे का रोपण किया गया। इसके साथ ही अन्य जनप्रतिनिधि और अधिकारियां के द्वारा भी पौध रोपण किया गया। कृष्ण कुंज में करीब 120 पौधों का रोपण किया गया।
इस अवसर पर पार्षद द्वितेन्द्र मिश्रा, दीपक मिश्रा, आलोक दुबे, नगर निगम आयुक्त सुश्री प्रतिष्ठा ममगई, वनमंडलाधिकारी पंकज कमल, अपर कलेक्टर एएल ध्रुव, एसडीएम प्रदीप साहू, तहसीलदार भूषण मण्डावी, अजय बंसल, राजीव अग्रवाल, जयभगवान अग्रवाल, संजीव मंदिलवार, परवेज आलम सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी-कर्मचारी, गणमान्य नागरिक और आमजन उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here